चैती छठ – भयानक गर्मी में कठिन तपस्या वाला पर्व

चैत्र नवरात्रि के शंखनाद और श्लोक से जहां नववर्ष की शुरुआत से भक्तिमय वातावरण बना है, वहीं चैती छठ गीतों के बोल और धुन छठ-घाट के पावन और मनोरम दृश्य की ओर मन को आकर्षित कर रहे हैं। वैसे तो चैती छठ को कार्तिक छठ की तरह व्यापक तौर पर लोग नहीं करते हैं, लेकिन…

Read More

सुनिए छठ के प्रसाद से जुड़ी ये कहानी

बिहार का महापर्व छठ 14 नवम्बर को उषा अर्घ्य देने के साथ ही समाप्त हो गया और अब सभी जगह छठ पूजा के प्रसाद वितरण का माहौल बना हुआ है. जिसके छठ हुआ हा वो अपने रिश्तेदारों आस पड़ोस में छठ के प्रसाद बाँट रहे है . और सच पूछा जाये तो छठ पूजा करने…

Read More

मनोकामना पूर्ण होने पर अमेरिका से छठ करने पहुंचीं प्रेमलता

लोक आस्था के महापर्व छठ की पूजा करने के लिए परदेसी भी अपने-अपने गांव पहुंच गए हैं। जिले के विभिन्न गांवों में सैकड़ों की संख्या में अमेरिका, यूरोप, खाड़ी देशों में रहनेवाले भारतीय अपने गांव पहुंचे हैं। इसी क्रम में सोमवार को कुचायकोट प्रखंड के जलालपुर गांव में छठ पूजा करने के लिए अनुज जायसवाल…

Read More

दुनिया का सबसे कठिन व्रत है – छठ पूजा

दुनिया के लोग जब कभी सबसे कठिन साधना की चर्चा करते है तो उसमें छठ पूजा का नाम सबसे पहले आता है ।छठ पर्व का नाम लेते ही समस्त भोजपुरी भाषी समाज मे जो रोम- रोम में जो खुशी प्रकट होती है उसको शब्दों में बताना मुश्किल है । छठ बिहारी अस्मिता की पहचान है…

Read More

छठ महापर्व का दूसरा दिन: खरना पूजा के साथ 36 घंटे का निर्जला व्रत शुरू

महापर्व छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान रविवार को नहाय खाय के साथ शुरू हो गया। सोमवार को पर्व के दूसरे दिन सुबह में व्रती गंगा सहित विभिन्न नदियों व तालाबों में स्नान कर पवित्र पात्र में जल भरकर घर आए तथा प्रसाद बनाया। जो व्रती नदी किनारे या तालाब किनारे छठ करेंगी वे वहीं मिट्टी…

Read More

जानिए छठ पूजा का प्रसाद मिट्टी के चूल्हे पर ही क्यों बनाते है

छठ पूजा में आपने देखा होगा की छठ का प्रसाद मिटटी के चूल्हे पर बनाया जाता है और यह परंपरा सदियों से चलती आ रही है । व्रती खरना का प्रसाद जैसे गुड़ की खीर , ठेकुआ और रोटी नए चूल्हे पर ही बनाते है । इन सब के पीछे जो सबसे मुख्य कारण है…

Read More

मिथिला पेटिंग से सज रहे पटना के छठ घाट

किसी स्थान विशेष की संस्कृतियों का एकीकृत समागम ही वहाँ की लोक सभ्यता होती है, जिसकी झलक वहाँ के लोक पर्व, लोक कला और लोक संस्कार की गतिविधियों में हमें दिखाई देती है। छठ पर्व और मधुबनी/मिथिला पेंटिंग बिहार का दो ऐसा ही सांस्कृतिक पक्ष है जो बहुत ही मजबूती से ना केवल बिहार बल्कि…

Read More

विदेशों तक छठ की छटा, नेपाल में छठ पर है डाक टिकट, 2009 में हुआ था जारी

लोकआस्थाका महापर्व छठ मुख्य रूप से बिहार, झारखण्ड और पूर्वी उत्तर प्रदेश का त्योहार माना जाता है। लेकिन अब यह इन इलाकों की सीमाओं को तोड़ देश के विभिन्न राज्यों और विदेशों में भी पूरी आस्था के साथ मनाया जाता है। पड़ोसी देश नेपाल के एक बड़े इलाके में भी महापर्व छठ मनाया जाता रहा…

Read More

छठ: ऐसा पर्व जहां होती है बेटी की भी कामना

लोकआस्था का महापर्व छठ अपने आप में हर मामले में अनूठा है। यही एकमात्र पर्व है जिसमें किसी भी तरह के कर्मकांड की जरूरत नहीं होती है। सभी चीजें जनश्रुति हैं और परंपरा से पीढ़ी दर पीढ़ी चली आ रही है। यह पर्व प्रकृतिस्वरूप नारी शक्ति को भी दर्शाता है। हमारी सामाजिक विडंबना है कि…

Read More

छठ पर्व: गीत ही शास्त्र, गीत ही मंत्र

छठ मेरा सबसे प्रिय त्योहार है। बतौर कलाकार तो इसलिए भी कि यह इकलौता त्योहार है, जो गीत- संगीत प्रधान है। अगर आदिवासी समुदाय के पर्व त्योहारों को छोड़ दें, जिनके रोजमर्रा के जीवन का हिस्सा गीत-संगीत होता है, तो दूसरे किसी त्योहार के बारे में, जिसमें गीत-संगीत इस तरह अनिवार्य तत्व की तरह शामिल…

Read More