सूर्य देव की आराधना का पर्व छठ साल में दो बार मनाया जाता है . चैत के महीने में मनाये जाने वाले छठ पर्व को चैती छठ कहते है और कार्तिक महीने में मनाये जाने वाले पर्व को कार्तिक छठ कहते है . हालांकि कार्तिक शुक्ल षष्ठी को मनाये जाने वाला छठ पर्व मुख्य माना जाता हैऔर इसे बहुत लोग करते है .

चैती छठ होली के कुछ दिनों बाद मनाया जाता है . यह पर्व हिन्दू पंचांग के अनुसार चैत माह के षष्ठी को मनाया जाता है इसलिए ये चैती छठ कहलाता है . यह पर्व भी कार्तिक छठ की तरह चार दिन तक चलता है . गर्मी के मौसम में मनाये जाने के कारण चैती छठ को बहुत सारे लोग नहीं कर पाते है

Facebook Comments